Bhojpuri Film Festival 2013

bhojpuri film festival 2013 logo

Closing Ceremony and Open Discussion Forum 7th Day – 19th November 2013 Guests and Speaker were Dr. Anil Sulabh Director, Bihar Hindi Sahitya Sammelan, Bhojpuri Film Director Rajkumar Pandey, Poet Dr. Shanti Jain, Vina Cinema Owner Virendra Kumar Sinha (Hira Babu) and Mr. Anil Paul Bhojpuri Film and ETV Crime Programme Director.

Dr. Anil Sulabh Director, Bihar Hindi Sahitya Sammelan - Good films are not only good films but also they give good return and do good business.

Poet Dr. Shanti Jain - Vieweres Dont make you, you make your viewers.

Rajkumar Pandey Bhojpuri Film Director – I am a commercial director and also i am from this society so in my films i always make balance of all things.

Anil Paul Bhojpuri films and ETV Crime programme Director – Censor Board should be in Bihar to have a control on the movies.

closing ceremony bhojpuri film festival 2013 speakers and guests

Closing Ceremony of Bhojpuri Film Festival 2013 Speakers and Guests

Speakers of Closing Ceremony of Bhojpuri Film Festival

Speakers of Closing Ceremony of Bhojpuri Film Festival 2013 at prem Chand Rangshala Patna on 19th Nov. 2013

Video of Closing Ceremony of Bhojpuri Film Festival 2013 -

—————————————————————————————————————————–

Open Discussion Forum 5th Day – 17th November 2013 guests – Bhojpuri Singer Padma Shri Sharda Sinha, Bhojpuri Film Actress Pakhi Hegde, Mohan Rawat Director at Filumchi Studio Patna, Bhojpuri Film Khalnayak Bipin Singh, Dr. Kalyani Singh, Professor at Patna University.

प्यार क्यों नहीं है अपनी बोली से भोजपुरिया समाज के लोगो को, यदि प्रेम है अपनी बोली से तो एक स्वर में विरोध कर हटा क्यों नहीं देते, नहीं बन्ने दे ऐसी फिल्मे। बाजार में अपना कब्ज़ा रखने वालो से मै अनुरोध कर थक गई - Bhojpuri Singer Padma Shri Sharda Sinha

गलत फ़िल्म को मत देखिए, भोजपुरी फिल्मे अस्लील फ़िल्म होती है, हम अस्लील काम करना नहीं चाहते है, आप अस्लील फिल्मे देखना बंद करे अस्लील फिल्मे बनना बंद होगी - Bhojpuri Film Actress Pakhi Hegde

सिनेमा के बनाने और चलने का कोई फार्मूला नहीं है, कि आप सिनेमा बनाए और चलेगा - Mohat Rawat Director at Filumchi Studio Patna

20 रुपया तो दीजिए भोजपुरी सिनेमा को - Bhojpuri Film Khalnayak Bipin Singh

दिल में बसल भोजपुरिया के जुबान से बाहर लावे के बा, आलू जैसे हर जगह मिले ला वैसे ही भोजपुरी हर जगह मिले ला - Dr. Kalyani Singh, Professor at Patna University

Video of Open Forum Discussion at Bhojpuri Film Festival 5th Day

——————————————————————————————————————–

Open Discussion Forum 3rd Day – 15th November 2013 guests Bhojpuri films Actor Sri Vipin Singh, singer and writer sri vishudha nand and Dr. Sarita Buddhu chairperson bhojpuri union art and culture department mauritius.

प्रेस विज्ञप्ति
ज्ञातव्य हो कि 22 फरवरी 2013 को भोजपुरी सिनेमा ने पुरे पचास साल पुरे कर लिए | इस उपलक्ष्य में भी सिने सोसाइटी,पटना ने बिहार संगीत नाटक आकदमी के सहयोग से दो दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किये थे | इस स्वर्णिम वर्षोत्सव के मौके पर 13-19 नवंबर, 2013 को पुनः सिने सोसाइटी द्वारा राजधानी स्थित प्रेमचन्द रंगशाला में भोजपुरी फ़िल्म महोत्सव’ आयोजित होने वाली है | भोजपुरी फ़िल्म के इस स्वर्णिम पड़ाव पर यह फ़िल्म महोत्सव देश भर में एकमात्र कार्यक्रम है | इस महोत्सव के दौरान रविराज पटेल द्वारा निर्मित व निर्देशित ‘भोजपुरी सिनेमा के पचास साल –दशा और दिशा’ नामक एक वृतचित्र तथा पहली भोजपुरी फ़िल्म गंगा मईया तोहे पियरी चढईबो’ सहित भोजपुरी के चुने हुए कुल बारह फिल्मों की प्रदर्शन तथा सम्बंधित सिने कलाकारों के साथ विमर्श-संगोष्ठी भी होगी | इसी क्रम में 17 नवंबर,2013 के दिन ओपेन फोरम में पटना विश्वविद्यालय अंर्तगत पटना विमेंस कॉलेज की छात्राओं द्वारा भोजपुरी सिनेमा के वर्तमान स्थिति पर किये गए शोध कार्य का प्रस्तुतीकरण भी होगी | महोत्सव के उदघाटन समारोह के मौके पर रविराज पटेल द्वारा लिखित पुस्तिका ‘गंगा मईया तोहे पियरी चढईबो की निर्माण कहानी’ का विमोचन भी होना है | समारोह के उदघाटनकर्ता श्री त्रिपुरारी शरण , महानिदेशक , दूरदर्शन होंगे, तथा मुख्य अतिथि पहली भोजपुरी फ़िल्म के निर्माता सुपुत्र श्री निर्मल शाहाबादी, श्री विनय बिहारी , गीतकार व विधायक एवं श्री चंचल कुमार , सचिव ,कला संस्कृति विभाग, बिहार होंगे | इस महोत्सव के आयोजन में भारतीय स्टेट बैंक व एच.डी.एफ.सी.बैंक लिमिटेड के आलावा सिने सोसाइटी को बिहार सरकार के कला ,संस्कृति विभाग तथा बिहार संगीत नाटक अकादमी ने विशेष रूप से सहयोग किया है |
महोत्सव के समापन समारोह के अवसर एक स्मारिका का भी प्रकाशन प्रस्तावित है | इसके पूर्व रोज महोत्सव के मध्य में ओपेन फोरम में सिनेमा कलाकारों एवं सिने विद्दों की उपस्थिति रहेगी |

(आर. एन. दास)
महोत्सव मुख्य सलाहकार

(विनोद अनुपम)
महोत्सव निदेशक

(रविराज पटेल)
महोत्सव संयोजक

Schedule for the Film Festival -

पहला दिन, 13 नबम्बर ,2013 2013

• उदघाटन समारोह – समय 12:30(दोप.)
• गंगा मैया तोहे पियरी चढैबो की निर्माण कहानी (पुस्तिका) का विमोचन – समय 12:40 (दोप.)
• भोजपुरी सिनेमा का पचास साल “दशा और दिशा” (वृतचित्र) का – समय 12:45 (दोप)
• प्रदर्शन सम्मानित अतिथियों द्वारा संबोधन – 01:30 बजे (अप)
• सम्मानित अतिथियों के सथ विमर्श -03.00 बजे (अप.)
• गंगा मैया तोहे पियरी चढैबो फीचर फ़िल्म का प्रदर्शन – 04:00 बजे (अप.)

Film Shows Time Table -

14.11.2013 – Time – 1:00 P:M – Film – दंगल (भोजपुरी की पहली रंगीन फ़िल्म )
Time – 4:00 P:M – सम्मानित अतिथियों के साथ विमर्श
Time – 5:00 P:M – Film – दगाबाज बलमा

14.11.2013 – Time – 1:00 P:M – Film – दंगल (भोजपुरी की पहली रंगीन फ़िल्म )
Time – 4:00 P:M – सम्मानित अतिथियों के साथ विमर्श
Time – 5:00 P:M – Film – दगाबाज बलमा

15.11.2013 – Time – 1:00 P:M – Film – पंडित जी बताईं ना बियाह कब होई
Time – 4:00 P:M – सम्मानित अतिथियों के साथ विमर्श
Time – 5:00 P:M – Film – ससुरा बड़ा पैसे वाल

16.11.2013 – Time – 1:00 P:M – Film – हमार देवदास
Time – 4:00 P:M – सम्मानित अतिथियों के साथ विमर्श
Time – 5:00 P:M – Film – कब होईहें गवना हमार

17.11.2013 – Time – 1:00 P:M – Film – जिनगी ह गाडी सैईयां ड्राईवर बीबी खलासी
Time – 4:00 P:M – भोजपुरी सिनेमा के वर्तमान स्थिति पर पटना विमेंस कॉलेज की छात्राओं द्वारा शोध कार्य का प्रस्तुतिकरण
Time – 5:00 P:M – Film – बिगुल

18.11.2013 – Time – 1:00 P:M – Film – कन्यादान
Time – 4:00 P:M – सम्मानित अतिथियों के साथ विमर्श
Time – 5:00 P:M – Film – रणभूमि

अंतिम दिन, 19 नबम्बर ,2013
• समापन समारोह की शुरुआत 02:00 बजे अप .
• श्री बिरेन्द्र कुमार सिन्हा,मालिक वीणा सिनेमा, पटना का विशेष सम्मान, 02:15 बजे अप.
• स्मारिका का विमोचन 02:30 बजे अप.
• सम्मानित अतिथियों के साथ विमर्श 02:40 बजे अप.
• बलम परदेसिया , फीचर फ़िल्म का प्रदर्शन 04:00 बजे अप.

प्रदर्शित होने वाली फिल्मों की संक्षिप्त परिचय

1. भोजपुरी सिनेमा का पचास साल “दशा और दिशा” (वृतचित्र)
अवधि : ४० मिनट , (२०१३) |
प्रस्तुति : सिने सोसाइटी ,पटना, निर्माता-निर्देशक : रविराज पटेल

सार : इस फ़िल्म में मुख्य रूप से भारतीय सिनेमा में भोजपुरी बोली का प्रवेश व प्रयोग कब कैसे और क्योँ हुई , उस पर प्रकाश है | प्रथम भोजपुरी फ़िल्म बनने के पीछे सोंच सृजन, साहस , संघर्ष और सफलता की कहानी इस फ़िल्म की केंद्र बिन्दु है, साथ ही पचास वर्षों में भोजपुरी फिल्मों की मिठास से लेकर खटास तक ,इस पर विशेषज्ञों के बेबाक विचार समेटे गए हैं, जिसमें उसकी दशा और दिशा दोनों निहित प्रतीत होते हैं |

2. गंगा मईया तोहे पियरी चढईबो (पहली भोजपुरी फीचर फ़िल्म)
अवधि : १२० मिनट, (१९६३)
निर्माता : विश्वनाथ प्रसाद शाहबादी , निर्देशक : कुन्दन कुमार
गीत : शैलेन्द्र, संगीत : चित्रगुप्त
कलाकार : असीम कुमार , कुम कुम, पद्मा खन्ना, हेलन, रामायण तिवारी ,भगवान सिन्हा , लीला मिश्रा आदि |
सार : विधवा, बेमेल व दहेज कुप्रथा के ग्रसित विवाह को केंद्र में रखते हुए ,ग्रामीण रहन सहन व समस्या पर आधारित सामाजिक व पारिवारिक चित्रण |

3. दंगल (पहली रंगीन भोजपुरी फीचर फ़िल्म)
अवधि ; १३५ मिनट
निर्माता : बच्चू भाई शाह , निर्देशक : रति कुमार
संगीत : नदीम-श्रवण
कलाकार : सुजीत कुमार , प्रेमा नारायण आदि |

4. दगाबाज़ बलमा (पहली महिला निर्देशिका द्वारा निर्देशित भोजपुरी फीचर फ़िल्म)
अवधि : १५० मिनट
निर्माता राजीव सिंह सिंह , लेखिका- निर्देशक : आरती भट्टाचार्य
गीत- संगीत : लक्ष्मण शाहाबादी
कलाकार : कुणाल सिंह, जय श्री टी., साहिल चड्ढा , पद्मा खन्ना आदि |

5. पंडित जी बताईं ना वियाह कब होई , अवधि : १७० मिनट
निर्माता : किशन खदरिया , लेखक- निर्देशक : मोहन जी प्रसाद
गीत : विनय बिहारी , संगीत : राजेश गुप्ता
कलाकार : रवि किशन , नगमा, कुणाल सिंह , रीता जोशी आदि |

6. ससुरा बड़ा पैसे वाला, २००४, अवधि : १८० मिनट
निर्माता : सुधाकर पाण्डेय , निर्देशक :अजय सिन्हा
गीत : विनय बिहारी , संगीत : लाल सिन्हा
कलाकार : मनोज तिवारी, रानी चटर्जी, अखिलेश सिंह , दामिनी , ममता आदि |

7. हमार देवदास, २०११ , अवधि : १७० मिनट
निर्माता : उमेश सिंह, निर्देशक : किरणकान्त वर्मा
गीत : डॉ.शांति जैन,फणीन्द्र राव, ब्रज किशोर दुबे , संगीत : बैजू-बंशी
कलाकार: रवि किशन , अक्षरा सिंह, मोनालिसा, उमेश सिंह, माया यादव आदि |

8. कब होइहें गवना हमार,(पहली राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त भोजपुरी फ़िल्म)
२००६ , अवधि :१८० मिनट
निर्मात्री : दीपा नारायण झा , निर्देशक :आनंद डी. गहतराज
गीत : विनय बिहारी , संगीत : निखिल-विनय
कलाकार : रवि किशन, रश्मि देसाई, महेश राजा, उदित नारायण आदि |

9. जिनगी ह गाडी सैईयां ड्राईवर बीबी खलासी, २०११, अवधि : १७० मिनट
निर्माता : अंजनी कुमार व अनुज गुप्ता , निर्देशक : अंजनी कुमार
गीत : विनय बिहारी , संगीत : प्रियदर्शन पाठक
कलाकार : रिंकू घोष, कुणाल सिंह, नीलिमा सिंह, राजीव परशुराम, सीमा सिंह, सुमन कुमार, राजेश राजा आदि |

10. बिगुल, २०१२ अवधि :१६२ मिनट
निर्माता : जीतेन्द्र यादव , निर्देशक : रविकांत
गीत : रविकांत और एस कुमार. संगीत : नजाकत सुजात
कलाकार: हैदर अली, अक्षरा सिंह
सार : बिगुल प्रेम कथा के साथ-साथ …भूमि-माफिया के खिलाफ समाज के दो प्रमुख वर्ग किसान और मजदूर का बुलंद रणघोष की कथा है…

11. कन्यादान, २००३ , अवधि : १६५ मिनट
निर्मात्री : मरीना उपाध्याय, निर्देशक : सुशील कुमार उपाध्याय
गीत : संगीत :
कलाकार: रवि किशन, कीर्ति गायकवाड, , कुणाल सिंह, मनोज तिवारी, सुशील सिंह आदि |

12. रणभूमि, (२०१०) अवधि : १३५ मिनट
निर्माता : अभय सिन्हा व टी.पी.अग्रवाल, लेखक-निर्देशक : अनिल अजिताभ
गीत : विनय बिहारी व प्यारे लाल यादव , संगीत : धंनजय मिश्रा
कलाकार: दिनेश लाल यादव ‘निरिहुआ’, मनोज तिवारी, स्वीटी छाबडा, उर्वसी चौधरी, शक्ति सिन्हा, सिद्धार्थ राय आदि |
सार: नक्सलवाद पर आधारित |

13. बलम परदेसिया, १९७८ , अवधि : १४० मिनट
निर्माता : मुमताज हुसैन, लेखक-निर्देशक : नजीर हुसैन
गीत :अंजान, संगीत : चित्रगुप्त
कलाकार: राकेश पाण्डेय, पद्मा खन्ना, नजीर हुसैन, भगवान सिन्हा, परवीन पाल, लीला मिश्रा, हरी शुक्ला, साधना खोटे आदि |