want to become versatile actor Saheb Das Manikpuri

वर्सटाइल एक्टर बनना चाहता हूँ – साहेब दास मानिकपुरी I

सफलता के लिए धैर्य , लगन और दृढ़ इच्छा जरुरी है इसके साथ इंसान का व्यवहार कुशलता भी उसके आगे बढ़ने में काफी मददगार साबित होता है । छत्तीसगढ़ राज्य के भाटापारा के करीब भैसा सकरी गांव का साहेब दास मानिकपुरी आज टी वी का सक्रिय कलाकार बन गया है ।

लाइफ ओके पर प्रसारित डेली सोप ‘ मे आई कम इन मैडम ‘ में वह खिलौनी के पात्र को अनोखे ढंग से पेश कर रहे हैं । सीरियल के मुख्य पात्र साजन का दोस्त खिलौनी अपनेआप में मस्त रहने वाला बेपरवाह किस्म का इंसान है उसे बिन मांगे सलाह देने की आदत है । खिलौनी बने साहेब अपने संवाद अदायगी और बनावटी हाव भाव से दर्शकों का भरपूर इंटरटेन कर रहे हैं । इससे पहले उन्होंने तोता वेड्स मैना , एफ आई आर और भाभीजी घर पर हैं में अलग अलग किरदार निभाकर दर्शको को खूब गुदगुदाया है । सी आई डी और शपथ में उन्होंने डिफरेंट किया था ।

मशहूर फिल्ममेकर प्रदीप सरकार ने साहेब दास की प्रतिभा को अपने कई कमर्शियल एडफिल्म और हिंदी फिल्म मर्दानी में मौका देकर तराशा है । टी वी में कॉमेडी करने वाले साहेब ‘ मर्दानी ‘ में गुंडे का रोल निभाए हैं जो रानी मुखर्जी का अपहरण करता है । इरफ़ान खान और मल्लिका शेरावत की फिल्म ‘ हिस्स ‘ में लैब सर्वेन्ट की भूमिका को असरदार बनाकर सक्षम अभिनेता का परिचय दिए हैं साहेब ने । हल्ला बोल , फैमिली , जयंता भाई की लव स्टोरी , फँस गए रे ओबामा , रमैया वस्तवैया जैसी कई फिल्मों में बड़े कलाकारों के साथ साहेब खड़े हुए लेकिन उभर नहीं पाए । उनका ये मानना है कि आखिर कब तक , एक न एक दिन अपना भी टाइम आयेगा जब कोई डायरेक्टर पूरी फिल्म में कैरेक्टर प्ले करवाएगा ।

अभिनय यात्रा की शुरुआत कैसे हुई पूछने पर साहेब बताते है मैं मुम्बई जॉब करने आया था । एक बार मैंने इस्कोन में कंस वध प्ले देखा तभी से दिमाग में एक्टिंग का कीड़ा कुलबुलाने लगा और एक्टिंग को कैरियर बनाने का निश्चय किया । रंगमंच ग्रुप से जुड़कर रंगकर्मी स्वर्गीय सत्यदेव दुबे , राजेश दुबे , संजय पांडे , दिलीप शाह और मनीष मिश्रा जी से अभिनय की बारीकियां सीखता गया और उनके मार्गदर्शन से मेरे अभिनय कौशल में निखार आता गया । संघर्ष के दौरान मेरे बड़े भाई कुमार मानिकपुरी का बहुत सपोर्ट मिला जो एक लेखक हैं , अपनी माटी से जुड़े मुम्बई में रहते हुए उन्होंने छत्तीसगढ़ी में मानिक खंड लिखा है और अब गीता भगवद लिख रहे हैं ।

अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए मैंने फिल्म , एडफिल्म और टी वी की ओर रुख कर ऑडिशन देना शुरू किया । पहला ब्रेक सी आई डी में मिला तो कैमरा फेस करते समय नर्वस फील हुआ लेकिन हिम्मत से काम लिया । और फिर एक के बाद एक काम से काम मिलता गया । प्रदीप सरकार सर की कमर्शियल एड के लिए एक बार ऑडिशन दिया था अब तो दादा के इतने करीब हूँ कि उनके यहाँ से डायरेक्ट काम के लिए कॉल आता है । प्रदीप दादा ज़मीन से जुड़े फिल्ममेकर हैं उनका फटकार भी प्यार लगता है । निर्देशक शशांक बाली सर की सभी सीरियल करते आ रहा हूँ वे शान्तभाव के बेहद कूल इंसान हैं और अपने कलाकार को नर्वस नहीं होने देते । हाल ही में महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के साथ एक एड में का किया तो उनकी सिम्पलिसिटी को देखकर हैरान हुआ कि इतने बड़े आदमी और एक आम आदमी में कोई फर्क नहीं । और हाँ महानायक अमिताभ बच्चन , इरफ़ान खान , रानी मुखर्जी , कंगना रानौत , ईशा कोप्पिकर के साथ स्क्रीन शेयर करना अपने जीवन की बड़ी उपलब्धि मानता हूँ । यह सब ईश्वर की कृपा और अपनों का प्रेम है ।

साहेब दास मानिकपुरी जल्द ही इरफ़ान खान के साथ रायता और श्रेयस तलपड़े के साथ एक अनाम फिल्म में नज़र आएंगे । समय के पाबंद और सेट पर सबसे घुल मिलकर रहने वाले ज़िंदादिल इंसान साहेब को अब बड़े किरदार का इंतज़ार है जिसमें अपनी बहुमुखी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सके ।

Biharplus Mumbai Reporter
Jitendra Sahanay